Thursday , 3 December 2020

हरियाणा

दीपक पूनिया को मिली अस्पताल से छुट्टी

third party image कोरोना वायरस तेजी से फैल रहा है जिसके कारण खि लाड़ी भी इसकी चपेट में आ तेजी से आने लगे है। हाल ही में इसकी गिरफ्त में आए विश्व चैम्पियनशिप में रजत पदक हासिल करने वाले पहलवान दीपक पूनिया। कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव होने के बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती किया गया जहां से उनकी स्थिति में सुधार …

Read More »

अमर शहीद राजा नाहरसिंह का बलिदान दिवस पर विशेष झाँकी

raja nahar singh balidan diwas new delhi- नई दिल्ली : 1857 के महान स्वतंत्रता सेनानी अमर शहीद राजा नाहर सिंह ( raja nahar singh ) के 162वें बलिदान दिवस पर बल्लभगढ़ (फ़रीदाबाद) से शहीदी स्थल चांदनी चौक (दिल्ली) तक पहली बार झांकी यात्रा निकाली गयी। यात्रा का बल्लमगढ़ शहीदी स्थल से आरंभ होकर बदरपुर बॉर्डर, आश्रम मोड, सराय काले खां …

Read More »

भागवत ज्योति फ्री संस्था केन्द्र में नववर्ष कार्यक्रम का आयोजन

bhagvat joti free sanstha

silai center sonipat बहालगढ ने जो प्यार दिया है उसके लिए धन्यवाद- ममता नई दिल्ली। बहालगढ में स्थित भागवत ज्योति फ्री संस्था केन्द्र में नववर्ष के उपलक्ष्य में सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम के दौरान संस्था के बच्चों ने गानों, कविता व नृत्य की सुंदर प्रस्तुति देकर आए हुए सभी लोगों का मन मोह लिया। एक जनवरी को …

Read More »

चार पीढी के बाद पांचवी पीढी ने भी रखा प्रशासनिक सेवा में कदम

विश्वजीसिंह श्योराण अपनी बहन गौरी के साथ प्रशासनिक के बाद राजनीतिक सेवा का रहा है इतिहास नई दिल्ली। आज के इस दौर में जहां सरकारी जॉब पाने के लिए नौजवान अपनी पूरा सामर्थ्‍य लगा देते है फिर भी अंदेशा बना रहता है कि उन्हें सरकारी जॉब मिले या ना मिले लेकिन वहीं आपको एक ऐसा परिवार मिले जिसकी चार पीढियां …

Read More »

समाज के लिए एक दिन की बेटी को छोड़ कर जेल गया जाट नेता, अब आया बाहर

किसी विशेष के प्रयास से नहीं बल्कि कानूनी लड़ाई से मिली जमानत रोहतक- sudip kalkal जाट आंदोलन के दौरान कैप्टन अभिमन्यु की कोठी में आगजनी करने के आरोप में जेल काट रहे युवा जाट नेता सुदीप कलकल जमानत पर बाहर आ गए हैं। जानकारी के अनुसार करीब साढ़े तीन साल बाद सुदीप जेल से बाहर आया है। उन्हें नियमित रूप …

Read More »

दुष्यंत चौटाला के पास रास्ता था बीजेपी में ना जाने का जानिये कैसे

क्या दुष्यंत का राजनीतिक भविष्य खत्म हो गया हैं ? एक शेर है हमें तो अपनों ने ही लूटा गैरों में कहा दम था मेरी किस्ती ही वहां डूबी जहां पानी कम था। कुछ शब्दों का यह शेर जाटों पर एक दम सटीक रूप से बैठता हैं। अगर इसका उदाहरण देखना है तो जाट समाज से संबंधित किसी भी सोशल …

Read More »